राजकुमार जैन ‘राजन’

भारतीय जीवन बीमा निगम’ से जुड़े श्री राजकुमार जैन ‘राजन’ विगत कई वर्षों से निरंतर सृजनरत हैं। ’सबसे अच्छा उपहार’, ’जन्मदिन का उपहार’, ’मन के जीते जीत’ सहित आपकी  बाल साहित्य की दो दर्जन से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं और इनकी रचनाओं का कई भाषाओं में अनुवाद हो चुका है। कई बाल पत्रिकाओं के संपादन से भी आप जुड़े हैं।  लेखन के क्षेत्र में इन्हें ‘महराणा मेवाड़ फाउण्डेशन’, राजस्थान सरकार सहित कई संस्थाओं द्वारा पुरस्कृत किया जा चुका है। इनकी रचनाओं का कई वर्षों से आकाशवाणी से नियमित प्रसारण हो रहा है।

प्रतिवर्ष बाल साहित्य के लिए ‘राष्ट्रकवि पं. सोहनलाल द्विवेदी बाल साहित्य पुरस्कार’, ’डॉ. राष्ट्रबन्धु स्मृति वरिष्ठ बाल साहित्यकार सम्मान’, ’श्रीप्रसाद स्मृति बाल साहित्य सम्मान’, ’श्रीमती इंदिरा देवी हींगड़ स्मृति बाल साहित्य सम्मान’ , ’श्रीबालाशौरी रेड्डी स्मृति बाल साहित्य सम्मान’  सहित आप कई पुरस्कार/सम्मान भव्य समारोह आयोजित कर प्रदान करते हैं। आपने पुस्तक प्रकाशन के लिए अनुदान देने के साथ ही हिन्दी बाल साहित्य की पुस्तकों का देश की अन्य भाषाओं में अनुवाद को भी बढ़ावा दिया है। साथ ही देश के विभिन्न राज्यों में स्थित पुस्कालयों/शोध संस्थानों/विद्यार्थियों को अभी तक साढ़े तीन लाख से अधिक मूल्य की बाल साहित्य की पुस्तकें निशुल्क भेंट कर चुके हैं। कई पत्र-पत्रिकाओं को मुक्त हस्त सहयोग भी प्रदान कर रहे हैं।

साहित्य, शिक्षा, सेवा के क्षैत्र में लगातार कार्य होता रहे इस उद्देश्य के लिए आपने ‘राजकुमार जैन ‘राजन’ फउण्डेशन’ की स्थापना की है एवं देश की कई सामाजिक, साहित्यिक संस्थाओं से भी जुड़े हैं। वर्तमान में आप भोपाल से प्रकाशित मासिक पत्रिका ’साहित्य समीर दस्तक’ एवं नीमच से प्रकाशित मासिक ’राष्ट्र समर्पण’ में संपादक के रूप में सेवा दे रहे हैं।

जन्म:- 24 जून, 1969 आकोला, चितौड़गढ़ (राजस्थान)
शिक्षा:- एम.ए. (हिन्दी)
सम्पर्क - चित्रा प्रकाशन  आकोला-312205, (चित्तौड़गढ़) राजस्थान 
मोबाईल: +91 982 821 9919
ईमेल: licrajan2003@gmail.com तथा rajkumar_rajan2003@yahoo.com