Malakshmi Borthakur (मालक्ष्मी बरठाकुर)

Malakshmi Borthakur writes in English, Hindi and Assamese. Her poems often deal with human issues - love, life, pain, tears and the anguish that individuals suffer from within. Her social concerns include gender justice, human rights and human development. Her recently co- authored books, where she has translated poems to Assamese and Hindi titled ‘A Gift - I' and 'A Gift - II' were Amazon best sellers. Her writing has brought for her many international and governmental laurels such as the Independence Day Honour' 2020 from Motivational Strips and Gujarat Sahitya Akademy (under State Government of Gujarat, India), 'World Award For Literary Excellence 2019-20' from the Government of Peru, 'Order of Shakespeare Medal' and 'Global Literature Guardian 2019-20' from Motivational Strips; and 'World Laureate in Literature 2018', 'World Poetic Star, 2019' and 'Altyn Kalam-Golden Pen' from World Nations Writers' Union (WNWU), Kazakhstan. 

अंग्रेजी साहित्य एवं भारतीय शास्त्रीय गायन संगीत में स्नातकोत्तर, मालक्ष्मी बरठाकुर ने अंग्रेजी, हिंदी तथा उनकी मातृभाषा असमिया में कविताएँ लिखी है। काव्य-रचना उनका जुनून है और संगीत साधना उनका शौक। वे एक मानवतावादी कवियित्री हैं। उनकी रचनाएँ मनुष्य के जीवन, प्यार, दर्द, आँसू एवं पीड़ा आदि मुद्दों पर आधारित हैं। उनकी सामाजिक चिंता में लैंगिक न्याय, मानवाधिकार और मानव विकास शामिल हैं। उनकी कई कविताएँ प्रतिष्ठित राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तम्भों में प्रकाशित हो चुकी है। लेखन के लिए मालक्ष्मी ने कई राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय सम्मान भी अर्जित किए हैं, जिनमें से प्रमुख है साहित्यिक संस्था, मोटिवेशनल स्ट्रिप्स और गुजरात साहित्य अकादमी (गुजरात सरकार) द्वारा सम्मानपत्र, परू सरकार की ओर से 'वर्ल्ड अवार्ड फॉर लिटरेरी एक्सीलेंस, 2019-20’, वर्ल्ड नेशन्स राइटर्स यूनियन, कज़ाख़स्तान से 'अल्टिन कलम’ ('द गोल्डन पेन’) अवार्ड तथा लखनऊ की प्रतिष्ठित साहित्यिक, सांस्कृतिक व सामाजिक संस्था 'रूबरू' द्वारा प्रदान किया गया 'साहित्य श्री' सम्मान । असम प्रदेश की सांस्कृतिक राजधानी जोरहाट में जन्मी श्रीमती बरठाकुर लखनऊ, उत्तर प्रदेश की निवासी है।

सम्पर्क: poetessmalakshmi@gmail.com

No comments :

Post a Comment

We welcome your comments related to the article and the topic being discussed. We expect the comments to be courteous, and respectful of the author and other commenters. Setu reserves the right to moderate, remove or reject comments that contain foul language, insult, hatred, personal information or indicate bad intention. The views expressed in comments reflect those of the commenter, not the official views of the Setu editorial board. प्रकाशित रचना से सम्बंधित शालीन सम्वाद का स्वागत है।