भव्यता से मना साहित्यकार सम्मान समारोह एवं पुस्तक लोकार्पण कार्यक्रम

तुलसी साहित्य संस्कृति अकादमी न्यास एवं पं. हरप्रसादपाठक- स्मृति साहित्य पुरस्कार समिति  के संयुक्त आयोजन में
- 58 विशिष्ट साहित्यकारों का हुआ सम्मान
- 8 नव प्रकाशित पुस्तकों का हुआ लोकार्पण

मथुरा। तुलसी साहित्य संस्कृति अकादमी न्यास तथा पं. हरप्रसाद पाठक स्मृति साहित्य पुरस्कार समिति के संयुक्त तत्वावधान में भव्यता के साथ साहित्यकार सम्मान समारोह एवं पुस्तक लोकार्पण कार्यक्रम सम्पन्न हुआ

यह समारोह 26 सितंबर 2021को दो सत्रों में सम्पन्न हुआ। प्रथम सत्र ब्रजभूमि मथुरा के सुप्रसिद्ध विद्यालय सरस्वती शिशु मंदिर, दीनदयाल नगर- मथुरा के विशाल प्रेक्षागृह में प्रातः 11.30 बजे से 3.00 बजे तक तथा दूसरा सत्र ऑनलाइन 3.30 बजे से 5.30 बजे तक आयोजित हुआ।

प्रथम सत्र का शुभारम्भ कार्यक्रम के अध्यक्ष डॉ.नटवर नागर मुख्य अतिथि डॉ मुकेश आर्यबंधु ( महापौर- मथुरा- वृंदावन नगर निगम), विशिष्ट अतिथि, डॉ अमिताभ पाण्डेय ( वरिष्ठ शल्य चिकित्सक ई एन टी), डॉ गुलशन कुमार (वरिष्ठ शल्य चिकित्सक), श्री राजीव सक्सेना (बचत अधिकारी, मथुरा) तथा श्री मान सिंह राठौर ( प्रधानाचार्य- सरस्वती शिशु मंदिर, दीनदयाल नगर, मथुरा) द्वारा माँ सरस्वती एवं .पं.हरप्रसाद पाठक एवं  श्रीमती मायादेवी चतुर्वेदी की चित्र छवि पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया।

माँ सरस्वती की सस्वर वन्दना मूलचंद शर्मा निर्मल ने की। संस्था परिचय न्यास के कोषाध्यक्ष श्री अनुराग मिश्र एवं समिति के सचिव डॉ. दिनेश पाठक शशि ने प्रस्तुत किए।

प्रथम सत्र में सर्वप्रथम वरिष्ठ साहित्यकार डॉ नटवर नागर, श्री महेश जैन ज्योति, डॉ.अमिताभ पाण्डेय, डॉ. गुलशन कुमार, श्री गोपाल चतुर्वेदी, डॉ राजेंद्र कृष्ण अग्रवाल, डॉ धर्मेन्द्र कुमार अग्रवाल, डॉ अमर सिंह सेनी, डॉ सुभाष गुप्त मुसाफ़िर, अजय आचार्य, अजय शर्मा संतोष, डॉ. राम सेवक, राजीव सक्सेना, श्रीमती उषा शर्मा, सुमन चौधरी एवं महेन्द्र सिंह चौधरी को पं. हरप्रसाद पाठक स्मृति हिंदी रत्न, चिकित्सा रत्न, पत्रकारिता रत्न एवं समाज सेवी रत्न  सम्मान से अलंकृत किया गया।

इसके उपरांत मंचासीन अतिथियों द्वारा तुलसी साहित्य संस्कृति अकादमी (न्यास) के दशाब्दी वर्ष पर प्रकाशित स्मारिका  दृश्यांतर तथा पं. हरप्रसाद पाठक स्मृति बाल साहित्य पुरस्कार समिति की स्मारिका  संस्मृति का लोकार्पण किया गया। तत्पश्चात आचार्य नीरज शास्त्री की पुस्तक ‘सोच का प्रतिफल’, वरिष्ठ साहित्यकार पं. हरि दत्त चतुर्वेदी ‘हरीश’ के हिंदू प्रतिष्ठा के उत्कृष्ट खंडकाव्य ‘भगवा ध्वज’, राहुल प्रजापति के ग़ज़ल संग्रह ‘ चांदनी की दस्तक’,बालकवि अनुज चतुर्वेदी अनुभव की बाल कविता  

 कृति-‘‘ऊच नीच का फाफड़ा’’, तथा वरिष्ठ साहित्यकार डॉ दिनेश पाठक ‘शशि’ की पुस्तक ‘ बिखरे पन्ने’ तथा ‘टुकड़ा टुकड़ा सच’ का भी मंचासीन अतिथियों द्वारा लोकार्पण किया गया।

तत्पश्चात  डॉ अंजीव अंजुम को अकादमी द्वारा पं. उमाशंकर दीक्षित स्मृति सम्मान से तथा डॉ.जगदीश प्रसाद शर्मा को समिति के डॉ. विश्वास कुमार उपाध्या-स्मृति पुरस्कार से अलंकृत किया गया।

समारोह के दूसरे सत्र की अध्यक्षता लखनऊ  की श्रीमती स्नेहलता एवं  देवपुत्र पत्रिका के सम्पादक इन्दौर के डॉ.गोपाल माहेश्वरी जी के मुख्य अतिथि के रूप में किया गया।

इसमें  बीकानेर की बाल साहित्यकार इंजी.आशा शर्मा एवं लखनऊ  के श्री श्यामकृष्ण सक्सेना जी को पं.हरप्रसाद पाठक-स्मृति बाल साहित्य भूषण पुरस्कार एवं लखनऊ  के राजाभैया गुप्ता ‘राजाभ’, मुरैना के डज्ञॅ.कैलाश गुप्ता ‘सुमन’, भोपाल की डॉ. रंजना शर्मा, श्रीमती रागनी उपलपवार, कटनी की डॉ.सुधा गुप्तजा‘अमृता’ छिबरामऊ के प्रभाष मिश्र ‘प्रियभाष’, मुबानी उत्तराखण्ड के इंजी.ललिति शौर्य, रायबरेली के अरविन्द कुमार साहू  को पं.हरप्रसाद पाठक-स्मृति बाल साहित्य श्री सम्मान से अलंकृत किया गया।

गुलबर्गा, कर्नाटक की वरिष्ठ कथाकार डॉ अंबुजा मलखेडकर को श्रीमती माया देवी तथा बिहिया, बिहार की श्रीमती नीतू सुदीप्ति ‘नित्या’ को श्रीमती सरला देवी स्मृति साहित्य साधिकासम्मान, कानपुर के पं. बाबूराम शर्मा ज्योतिर्विद को धीरी सिंह धवल स्मृति सम्मान, रेणुका अरोड़ा को  धौरा देवी स्मृति सम्मान, गोला गोकर्णनाथ के श्री रमेश पाण्डेय शिखर शलभ को श्री श्याम सुन्दर चतुर्वेदी  श्याम- स्मृति सम्मान व खीरी के श्री नंदीलाल निराश को संत श्री बृजसंभारी दास स्मृति सम्मानतथा कर्नाटक की सुमन मलखेड़कर को तुलसी कला साधिका सम्मान, रायबरेली की एंजेल गांधी को तुलसी कला साधिका सम्मान और गोरखपुर के अनुज पांडेय को तुलसी कला साधक सम्मान से अकादमी द्वारा समलंकृत किया गया।

शंकर लाल शर्मा स्मृति साहित्य पुरस्कार से देहरादून के डॉ जयंती प्रसाद नोटियाल तथा गाजियाबाद के अशोक भटनागर को सम्मानित किया गया। शिव नारायण रावत स्मृति सम्मान से अलंकृत हुए गुरुग्राम के हरीश कुमार अमित तथा लखनऊ की वरिष्ठ साहित्यकार श्रीमती अलका प्रमोद। डॉ ओम प्रकाश श्रीवास्तव स्मृति सम्मान भोपाल की साधना श्रीवास्तव तथा मुंबई की संतोष शर्मा को प्राप्त हुआ। श्री चंद्रपाल शर्मा रसिक हाथरसी स्मृति  सम्मान दिल्ली के डॉ रवि शर्मा मधुप तथा जयपुर के श्री सूरज सिंह नेगी को मिला।  पुणे के श्री सत्येन्द्र सिंह तथा भोपाल के डॉ घनश्याम मैथिल को  श्री श्याम श्रोत्रीय स्मृति सम्मान से नवाजा गया। डॉ वृंदावन दास पंड्या स्मृति सम्मान  महाराष्ट्र के वरिष्ठ साहित्यकार डॉ धन्यकुमार जिनपाल व शाहजहांपुर की  सृष्टि पांडेय को और रमनदास पंड्या स्मृति से उदयपुर की शिल्पी पांडेय व  पटना के सुमन कुमार को प्राप्त हुए।

कार्यक्रम में, प्रदीप कुमार दीक्षित, गाफिल स्वामी, सागर पाठक,मूलचंद निर्मल, सुमन चौधरी, सानिका पाठक, महेन्द्र सिंह चौधरी,, अनुराग मिश्र, राहुल प्रजापति, आदित्य शर्मा, अनुज, मनुजचतुर्वेदी, श्रीमती अनुपमा पाठक, सक्षम, आकाश पाठक, श्रीमती शैल गौतम आदि का योगदान विशेष सराहनीय रहा।

समिति के  सचिव डॉ.दिनेश पाठक‘शशि’ ने सभी का धन्यवाद ज्ञापन दिया। दोनों सत्रों के कार्यक्रम का

सफल संचालन वरिष्ठ साहित्यकार आचार्य नीरजशास्त्री ने किया।

1 comment :

  1. महोदय! समाचार प्रकाशन हेतु कोटि-कोटि धन्यवाद।
    आचार्य नीरज शास्त्री

    ReplyDelete

We welcome your comments related to the article and the topic being discussed. We expect the comments to be courteous, and respectful of the author and other commenters. Setu reserves the right to moderate, remove or reject comments that contain foul language, insult, hatred, personal information or indicate bad intention. The views expressed in comments reflect those of the commenter, not the official views of the Setu editorial board. प्रकाशित रचना से सम्बंधित शालीन सम्वाद का स्वागत है।