अमेरिकी लोककथा: लटकती पहाड़ियों वाला काला कुत्ता

किशोर दिवसे
Black Dog of Hanging Hills (Connecticut)

"अच्छा! तुम्हारा सफ़र आनंददायक रहा" सराय की मालकिन ने कॉफी का खाली प्याला दुबारा भरते हुए पूछा।
"हाँ, सचमुच, लेकिन मुझे एक अप्रत्याशित साथी मिल गया था" मुस्कुराते हुए जस्टिन ने कहा।
"ऐसा! मैंने सोचा की बारिश में सफ़र करने वाले एकमात्र सनकी तुम होगे" उसने चुटकी ली।
"वह अप्रत्याशित साथी एक काला कुत्ता था।" जस्टिन ने आगे कहा ,"प्यारा सा साथी जो पहाड़ी की चोटी पर पहुँचकर नीचे उतरने तक साथ रहा। सराय की मालकिन का चेहरा जर्द पड़ गया। वह कॉफी पीते-पीते आँखें उठाकर ऊपर देख चुका था। 
"एक काला कुत्ता"! सराय की मालकिन ने कुछ और हैरत से चिंता क्यक्त की" लेकिन अच्छा नहीं हुआ।"
"आखिर क्यों?"
"इस शहर में यह आम मान्यता है" उसने जवाब दिया, "अगर वह काला कुत्ता एक बार किसी को दिखाई दे तब ख़ुशी मिलती है। दुबारा दिखे तब विपत्तियाँ और तीसरी बार दिखे तब उस व्यक्ति की मौत हो जाती है।"
"कोरा अन्धविश्वास है यह" जस्टिन ने ठहाका लगाया। सराय की मालकिन के चेहरे पर अब भी तनाव था।

कनेक्टिकट के मेरिदन कसबे में यह प्रचलित मान्यता रही है। लटकती पहाड़ियों में बसा है यह क़स्बा। इन पहाड़ियों में सीधे चढाव और खूबसूरत नैसर्गिक दृश्य दिखाई देते हैं। अलौकिक और रोमांचक रास्ता ह्यूबर्द पार्क से गुजरता है जिसके पूरबी शिखर पर पत्थरों से बना निगरानी बुर्ज़ है जिसे कैसल क्रेग कहते हैं। इस बुर्ज़ से दक्षिण की ओर बढती सोती हुई पहाड़ी नजर आती है। आसमान जिस दिन साफ़ रहे आप टापू की आवाजें भी सुन सकते हैं। उत्तर की ओर बर्क शायर पहाड़ी की तलहटी में पहुँचने के रास्ते हैं। इसके बाद रास्ता पश्चिम की तरफ जाता है । यहाँ पहाड़ी की चोटी के मार्ग पर जाने वाले सैलानियों को कभी-कभी वह काला कुत्ता दिखाई देता है। सन 1900 में श्रीमान पिंचन को वह काला कुत्ता दुबारा दिखाई दिया था। पहली बार जब कुत्ता दिखाई दिया उसके दोस्ताना व्यवहार के बारे में श्रीमान पिंचन ने अपने मित्रों को भी बताया। दूसरी बार जैसे ही काला कुत्ता नजर आया श्रीमान पिंचन का साथी जो पहाड़ी पर चढ़ रहा था नीचे गिरकर मर गया। फिर भी श्रीमान पिंचन ने उस पहाड़ी पर चढ़ना जारी रखा और उसकी भी मौत हो गयी। लटकती पहाड़ियों वाला काला कुत्ता सन 1800 से आज तक दिखाई दे रहा है। इसलिए खबरदार! मेरिदन पहाड़ी की पश्चिमी चोटी पर जब भी जाओ पूरी तरह सतर्क रहना।

अब आप ज़रूर यह जानना चाहेंगे कि आखिर ये लटकती पहाड़ियाँ हैं कहाँ पर! चलिए आपको बताए देते हैं। दक्षिण मध्य कनेटीकट (Connecticut) में लम्बी दूरी तक तक पसरी हुई ज्वालामुखी से पैदा हुई चट्टानों से बनी पर्वत श्रृंखला है। मेरिद, साउथिंगटन और बर्लिन शहर दिखाई देते है देते हैं। इतिहासकारों का कहना कि ये पहाड़ियाँ अमूमन दो सौ मिलियन बरस पहले बनी हैं जिसे ट्रियासिक और जुरासिक कालखंड कहा जाता है। इन्हीं पहाड़ियों को आजकल "लटकती पहाड़ियाँ" नाम दिया गया है। दरअसल दूर से देखने पर ऐसा लगता है मानो ये पहाड़ियाँ लटक रही हैं। 

अब इन लटकती पहाड़ियों के बीच, जहाँ पर पर्यटकों के लिए 1800 एकड़ के इलाके में हबर्ड पार्क बन चुका है। यहाँ पर मनोरंजक 51 मील लंबा धूमकेतु पथ, फ़ूलोद्यान, मिरर झील और चर्चित "लटकती पहाड़ियों वाला काला कुत्ता" भी है। बताते हैं यह काला कुत्ता अमूमन दो फीट लंबा था। जिन्होंने इसे देखा उनका दावा है कि उस कुत्ते का बर्ताव दोस्ताना था लेकिन उसकी आँखों में बड़ी रहस्यमय उदासी भरी थी। बेहद खामोशी से वह काला कुत्ता घूमा करता लेकिन आश्चर्य इस बात का था कि उसके चलने पर किसी तरह के पदचिन्ह नहीं बनते थे। कैसा आश्चर्य कि उसके भौंकने और चीखने पर कोई आवाज़ सुनाई देती थी!
***

किशोर दिवसे (पुणे)
चलभाष: 9827471743
ईमेल: kishorediwase0@gmail.com

No comments :

Post a Comment

We welcome your comments related to the article and the topic being discussed. We expect the comments to be courteous, and respectful of the author and other commenters. Setu reserves the right to moderate, remove or reject comments that contain foul language, insult, hatred, personal information or indicate bad intention. The views expressed in comments reflect those of the commenter, not the official views of the Setu editorial board. प्रकाशित रचना से सम्बंधित शालीन सम्वाद का स्वागत है।