सेतु हिंदी सम्मान 2016


किसी भी क्षेत्र में पुरस्कार या सम्मान की परम्परा का क्या मूल्य है यह लगभग हर व्यक्ति जानता-समझता है। दरअसल यह सम्मान किसी व्यक्ति को नहीं वरन उनके द्वारा उस क्षेत्र विशेष में दिए गए अवदान को दिया जाता है। और कई बार यह योगदान इतना महत्वपूर्ण होता है कि जब कोई व्यक्ति, पत्रिका या संस्था इस सम्मान से किसी को नवाज़ती है तो उस सम्मान को स्वीकारा जाना, प्रदान करने वाले का ही सम्मान होता है। 
मैत्रेयी पुष्पा 

हिन्दी साहित्य में उत्कृष्ट लेखन और विश्व भर में हिन्दी साहित्य व भाषा के प्रचार-प्रसार के चल रहे प्रयासों पर सेतु द्विभाषी साहित्यिक ई-पत्रिका लगातार नज़र रखे हुए है। इन्हीं दोनों बिंदुओं को ध्यान में रखकर सेतु द्वारा हिन्दी साहित्य में अविस्मरणीय योगदान के लिए वर्ष 2016 का सेतु शिखर सम्मान सुप्रसिद्ध लेखिका मैत्रेयी पुष्पा जी को 






शैलेश भारतवासी 


तथा हिन्दी साहित्य के प्रचार-प्रसार के लिए 2016 का सेतु हिन्दी सेवी सम्मान हिन्दी के लिए नई राह तैयार करने वाले शैलेश भारतवासी जी को प्रदान किया जा रहा है।

निश्चित रूप से आप दोनों का इसे स्वीकार करना सेतु का ही सम्मान है। 

कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा बनाकर शीघ्र ही आप तक पहुंचाई जाएगी, जिसके अन्तर्गत आगामी किसी माह में इस कार्य विशेष हेतु एक समारोह आयोजित किया जाएगा।