सेतु अंतरराष्ट्रीय लघुकथा प्रतियोगिता के परिणाम

प्रतियोगिता में सर्वाधिक अंक पाने वाली प्रविष्टियाँ पढ़ने के लिये कृपया यहाँ क्लिक करें, धन्यवाद। 

आपकी अपनी द्वैभाषिक पत्रिका 'सेतु द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी लघुकथा प्रतियोगिता 2017 के परिणाम आ चुके हैं। यह सेतु के प्रति आप सबका प्रेम ही है, कि प्रतियोगिता के लिये हमारी अपेक्षा से कहीं अधिक प्रविष्टियाँ प्राप्त हुईं। प्रतियोगिता के नियमों पर खरी उतरी रचनाओं को पाँच निर्णायकों के पैनल ने एक दूसरे से स्वतंत्र होकर आँका।

सेतु द्वैभाषिक पत्रिका की प्रथम अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी कविता प्रतियोगिता 2016 की असीम सफलता के बाद सेतु अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी लघुकथा प्रतियोगिता 2017 में भाग लेकर अपना सहयोग देने और अप्रतिम सफलता दिलाने के लिये सेतु सम्पादन मण्डल आपका आभारी है। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी रचनाकारों को सेतु की ओर से हार्दिक धन्यवाद व मंगलकामनाएँ!

सेतु अंतर्राष्ट्रीय लघुकथा प्रतियोगिता 2017 के निर्णायक मण्डल में सर्वश्री कांता रॉय, मधुदीप, राजेश उत्साही, रवि रतलामी, तथा डॉ सुनील शर्मा सम्मिलित थे। प्रतियोगिता के लिये प्राप्त रचनाओं में से रचनाकारों की जानकारी हटाकर केवल लघुकथाओं की फ़ाइल बनाकर निर्णायकों को भेज दी गई। प्रत्येक निर्णायक ने शून्य से लेकर 100 तक की सीमारेखाओं के भीतर ही प्रत्येक रचना को उसकी योग्यता के अनुसार अंक दिये। निर्णायकों की स्वतंत्र सूचियों को समेकित कर के सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाली रचनाओं को क्रम से पुरस्कार दिये जा रहे हैं। निर्णायक मण्डल द्वारा चयनित सर्वश्रेष्ठ तीन रचनाओं के पुरस्कृत रचनाकारों के नाम (अद्यतन सूची: 4/14/2018) क्रमानुसार नीचे अनुसूचित हैं:
  • प्रथम पुरस्कार: $125 - सीमा सिंह (मन का उजाला)
  • द्वितीय पुरस्कार: $100 - ज्योत्सना कपिल (मिठाई)  - पूर्वप्रकाशित - निरस्त
  • तृतीय पुरस्कार: $75 - सुषमा गुप्ता (पूरी तरह तैयार) - पूर्वप्रकाशित - निरस्त
अन्य पुरस्कार: उपरोक्त विजेताओं के अतिरिक्त, साहित्यिक पुस्तक पुरस्कार के लिये  निम्न रचनाकारों की कृतियाँ निर्णायकों को पसंद आई हैं।
  • राधेश्याम भारतीय (सम्मान)
  • किशोर श्रीवास्तव (दंगे का धर्म)
  • राजेश आहूजा (बॉसगिरी)
  • अनिता ललित (दहशत)
  • घनश्याम मैथिल "अमृत" (जड़ें)
निर्णायक मण्डल के सभी सम्मानित सदस्यों, और प्रतिभागियों को सेतु सम्पादन की ओर से हार्दिक धन्यवाद। पुरस्कृत तथा ऊपर वर्णित अन्य उल्लेखनीय रचनाओं को सेतु के आगामी अंकों में क्रमशः प्रकाशित किया जायेगा। अन्य रचनाओं के रचनाकार उन्हें अन्यत्र प्रकाशन के लिये भेजने को स्वतंत्र हैं।

पुनः आभार!

15 comments :

  1. सभी विजेताओं को बहुत-बहुत बधाई।

    ReplyDelete
  2. विजेताओं को हार्दिक बधाई व शुभकामनाएँ। इस महती आयोजन के लिए सेतु का साधुवाद।

    ReplyDelete
  3. राजेश आहूजाApril 10, 2018 at 3:21 PM

    अपनी विज्ञप्ति में आपने लिखा था, 'अन्य पुरस्कार - साहित्यिक पुस्तकें।' इस दृष्टि से तृतीय स्थान के बाद आने वाले पाँच लेखक भी पुरस्कार विजेता हैं। इसलिए यदि आप, 'उपरोक्त विजेताओं के अतिरिक्त निम्न रचनाकारों की कृतियाँ भी निर्णायकों को पसंद आईंं' के स्थान पर 'सांत्वना पुरस्कार' लिखें तो बेहतर रहेगा।

    ReplyDelete
  4. मुझे बेहद खुशी हुई विशेषकर डॉ सुषमा गुप्ता का नाम देख कर
    बहुत बहुत बधाई

    ReplyDelete
  5. बेहद खुशी हुई खासकर सुषमा गुप्ताजी ख्ई लघुकथा पुरस्कृत देख
    बधाई

    ReplyDelete
  6. सुरेन्द्र कुमार अरोड़ाApril 10, 2018 at 11:23 PM

    अति सुंदर

    ReplyDelete
  7. सुरेन्द्र कुमार अरोड़ाApril 10, 2018 at 11:24 PM

    अति सुंदर

    ReplyDelete
  8. विजेताओं को हार्दिक बधाई व शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete
  9. सेतु को एवं सभी विजेताओं को बहुत बहुत बधाई

    ReplyDelete
  10. राजेश आहूजाApril 14, 2018 at 3:31 AM

    सुषमा गुप्ता की लघुकथा, 'पूरी तरह तैयार' भी पूर्व प्रसारित है। इस बात को बलराम अग्रवाल जी ने अपनी एक पोस्ट में दिए गए कमेंट में बताया है। लघुकथा के परिंदे में प्रकाशित/प्रसारित हो चुकी इस लघुकथा का स्क्रीन श़ॉट उन्होंने वहाँ दिया है।

    ReplyDelete
  11. सुमीत चौधरीApril 14, 2018 at 5:23 AM

    सर जी... आपने लिखा कि // पूर्व-प्रकाशित रचनाएँ प्रतियोगिता से बाहर रहें। फिर भी यदि अनजाने में हुई ऐसी कोई भूल आपको दृष्टिगोचर हो तो कृपया setuhindi@gmail.com पर यथाशीघ्र सूचित करें।//

    किन्तु कैसे देखें??? रचनाएं कहाँ पर हैं??? यहाँ तो सिर्फ नाम हैं....

    ReplyDelete
  12. किसी भी प्रतियोगिता, यहाँ तक की सरकारी नौकरी की वरीयता सूची में भी ऊपर के नाम निरस्त होने पर अगलों को उनके स्थान पर आने का मौ
    का मिलता है..

    ReplyDelete
  13. जिन लघुकथाओं को पुरस्कृत किया गया है, उन्हें पाठकों के समक्ष रखा जाना चाहिए, ताकि वे भी इसे पढ़ सकें.

    ReplyDelete

We welcome your comments related to the article and the topic being discussed. We expect the comments to be courteous, and respectful of the author and other commenters. Setu reserves the right to moderate, remove or reject comments that contain foul language, insult, hatred, personal information or indicate bad intention. The views expressed in comments reflect those of the commenter, not the official views of the Setu editorial board. प्रकाशित रचना से सम्बंधित शालीन सम्वाद का स्वागत है।