रोसारियो त्रोंकोसो की स्पेनिश कविताएँ

रोसारियो त्रोंकोसो

- अनुवाद: पूजा अनिल 

सम्पूर्ण आत्मोत्सर्ग

आकाशीय गुम्बदों से ज़मीन की ओर
कूदते हैं अनावृत्त देवदूत
वे होते हैं खंडित वायुमंडल में,
गिरते हैं
कुछ नगरियों पर उनके अवशेष।
झपकती है पलक हर बार,
हर बार घटित होता यही,
उनके बनते-बिगड़ते प्रतिबिम्ब
पंछियों का भ्रम हैं देते।

यहाँ जो कुछ शेष रहा उनका,
बस यही:
भस्म और टूटे परों का एक बिछौना,
जितना सघन उतना ही एकाकी।

पूजा अनिल
स्नो व्हाइट

जहाँ सर्दी नहीं छोड़ती अपना वर्चस्व,
वहाँ सिर्फ कुछ पलों के लिए हो

धूप का आगमन,
तुम्हे मालूम था कि यह पर्याप्‍त नहीं होगा।
तुम्हें तो मालूम था ठंड का स्वभाव
उसका कठोर आलिंगन
आकर न जाने का उसका हठ

सब पता था तुम्हें और इसीलिए
तुम मेरे लिए बर्फ ले आई।
अंततः, हम सब को होना होता है क़ुर्बान।

इसी बर्फ पर खौलती रही मैं,
पिघली, बही
रक्तरंजित हुई।

इस बार तुमने बिसरा दीं
सभी राजकुमारियों की आँखें।


गुप्त नदियाँ

बेतरतीब हो गया है यह शहर मेरे लिये
हर एक सड़क बिल्कुल अलग दिखती हुई

जाने-पहचाने रास्ते भी
विश्वसनीय और आसान नहीं रहे
चौराहे का बूढ़ा वृक्ष अब वहाँ नहीं
छोटे-छोटे घर भी नहीं अब वहाँ
जो अपने हाथों में समेट लेते थे रात

निर्वस्त्र पुतले
शीशे की खुली कब्रों से
सारे महलों को नष्ट होते देखते हैं
अपनी देह को
गुप्त नदियों मे मुक्त हो जाने देती हूँ मैं
यह संसार सूर्य का सूखा विस्तार है
चूहों औऱ बिच्छुओं का उत्सव है यह।


बखिया


यहाँ कपड़ों को रफ़ू किया जाता है
लंबे-लंबे दिनों को
मोड़ कर की जाती है तुरपाई
जिनमें फैल जाती है परछाईं
कोई स्वर भी नहीं जिन दिनों में
और लगता है बोझिल हर मिनट।

हथेली पर काढ़ा जाता है
कशीदे से नाम का पहला अक्षर
यादों में सिले जाते हैं
कई चीजों के नाम
कि कहीं उधड़ न जाये
अदृश्य विस्मृति की बखिया।

सुंदर डिज़ाइन के पीछे
भद्दे पैबंद से
अनैतिक रहस्य हों जैसे!
बनाया जाता है वस्त्रों को सुदृढ़
यदि घिस चुका हो महीन उत्साह
और पुनः ताग दिया जाता है झूठ को
किसी बनावटी चैन से।

यहाँ दुरुस्त की जाती है कमर की नाप
और बाँहों की लम्बाई
पूरे रूखेपन से,
हर देह की
इच्छाओं की कतरन करते हुये।

खोई हुई वस्तुएँ

वे दूर-दूर से आये हुए चुम्बन
वह अनपेक्षित अंगूठी में बारिश की बूंदों का हीरा
वह रेइयस* का दिन
वह मेरे लिए लाया हुआ गुलदस्ता

वह निष्कपट सूत्र
जो मुझे बांधता था तेरे तन से

वह तुझे सम्पूर्ण रूप से चाहना
वे छोटी-छोटी खुशियाँ
हमेशा तुझे वहीँ पाना
जहाँ जिंदगी की ओर
समय पर लौटने का
कायदा तलाशा
ये सभी कवितायें तेरी ही बात करती हैं।

*रेइयस = स्पेन में छः जनवरी को मनाया जाने वाला एक महत्त्वपूर्ण उत्सव। कहा जाता है कि थ्री वाइज़ मैन इसी दिन मदर मेरी के लिए तोहफा लाये थे। अतः इसे “तोहफे का त्योहार” की तरह सभी अपनों को, खास तौर पर बच्चों को, तोहफा देकर मनाया जाता है।

कवि - रोसारियो त्रोंकोसो
अनुवादक – पूजा अनिल